साल 2015 का राशिफल


साल 2015 युवा वर्ग के लिए करियर के मामलों में उत्तम कहा जा सकता है। वर्ष का अंक 6 शुक्र प्रधान है। शुक्र कला, फिल्म जगत, इलेक्ट्रॉनिक्स, मोबाइल, इंजीनियर, आईटी, आभूषण, होटल व्यवसाय, सौंदर्य प्रसाधन आदि का कारक है।
मेष राशि := मेष राशि वालों के लिए शुक्र द्वितीयेश व सप्तमेश होने से कुछ परेशानियों के बाद थोड़ी सफलता का साल रहेगा विशेषकर दैनिक व्यवसाय के मामलों में। शुक्र इस राशि वालों के लिए मारकेश है। हीरा या ओपल न पहनें।
 
वृषभ राशि := वृषभ राशि वालों के लिए शुक्र लग्नेश व षष्टेश है। लग्नेश होने से शुभत्व ज्यादा है। वृषभ राशि वालों के लिए यह साल नई सौगात लेकर आया है। जो आईटी से संबंधित हैं उन्हें लाभ के अवसर ज्यादा रहेंगे। चिकित्सा, कला जगत, शुक्र से संबंधित व्यवसाय में सफलता मिलेगी।
 
मिथुन राशि := मिथुन राशि वालों के लिए शुक्र पंचमेश व द्वादशेश होने से शुभ रहेगा। बाहरी यात्राओं से लाभ, विद्या के क्षेत्र में सफलता, मनोरंजन के साधनों में वृद्धि होगी।
 
कर्क राशि := कर्क राशि वालों के लिए शुक्र की स्थिति चतुर्थेश व एकादशेश होने से स्थानीय व्यवसाय के क्षेत्र में सफलता के अवसर अधिक हैं। आर्थिक लाभ भी मिलेगा। इस वर्ष नवीन व्यापार भी शुरू हो सकता है।
 
सिंह राशि := सिंह राशि वालों के लिए शुक्र तृतीयेश व दशमेश होगा। पराक्रम द्वारा सफलता मिलेगी। संचार सेवाओं में सफल हो सकते हैं। नौकरी के क्षेत्र में आईटी, इलेक्ट्रिक व कम्प्यूटर इंजीनियरिंग में भी सफलता मिल सकती है।
 
कन्या राशि := कन्या राशि वालों के लिए तृतीयेश व भाग्येश होने से इस वर्ष सफलता के योग अधिक हैं विशेषकर कलात्मक क्षेत्र में शुक्र से संबंधित व्यवसाय में।
 
तुला राशि := तुला राशि वालों के लिए शुक्र लग्नेश होकर अष्टमेश होगा लेकिन लग्नेश होने से शुभत्व रहेगा। आप जितना प्रयास करेंगे उतनी अधिक सफलता के अवसर आएंगे। शुक्र से संबंधित व्यवसाय, नौकरी में सफल होंगे
 
वृश्चिक राशि:= वृश्चिक राशि वालों के लिए सप्तमेश व द्वादशेश होने से आप करियर के मामलों में परेशानियों का सामना करने के बाद मनमाफिक सफलता से दूर रहेंगे, फिर भी गुजारे लायक काम बन जाएगा। पके चावल या खीर कन्याओं में बांटें।
 
धनु राशि := धनु राशि वालों के लिए षष्टेश व एकादशेश होने से परेशानियां रहेंगी। आर्थिक लाभ कम रहेगा। शेयर मार्केट में धन लगाने से बचना होगा। जिस काम से लगे हैं उसमें लगे रहें, बदले नहीं। नवीन कार्ययोजना संभलकर बनाएं।
 
मकर राशि := मकर राशि वालों के लिए शुक्र की स्थिति पंचमेश होकर दशमेश होने से आपके सोचे कार्यों में सफलता के साथ लाभजनक स्थिति रहेगी। नौकरी आदि में सफल होंगे वही नया साल सौभाग्यशाली रहेगा।
 
कुंभ राशि := कुंभ राशि वालों के लिए चतुर्थेश व भाग्येश होने से आपका भाग्य इस वर्ष प्रबल रहेगा। करियर के क्षेत्र में नई उड़ान पाएंगे। सफलता निश्चित ही कदम चूमेगी। नौकरी, नवीन व्यापार, उन्नति के अवसर आएंगे।
 
मीन राशि : = मीन राशि वालों के लिए तृतीयेश व अष्टमेश होने से परिश्रम अधिक रहेगा व लाभ की स्थिति कम रहेगी। करियर के मामलों में कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। एक स्टील की कटोरी में शकर भरकर 9 शुक्रवार मंदिर में रखें, लाभ होगा।








ASK A QUESTION